Wednesday, 17 January 2018

मेरी नमाज़ों का कुछ ऐसा सिला दे...

मेरी नमाज़ों का कुछ ऐसा सिला दे... 
खुदा मुझे ता-उम्र उसका बेटा ही बने रहने दे... 

- सन

बेटियों के नाम पर तो सिर्फ नारे ही दिए जाते है...

बेटियों के नाम पर तो सिर्फ नारे ही दिए जाते है... 
बेटियों की अज़मत के लूटेरे कहाँ पकड़े जाते है...
कागज़ों पे सिर्फ मुक़दमे लिखे जाते है...
वक़ालत में सारे काले गुनाह सफ़ेद हो जाते है...

- सन

यह षड़यंत्र में भागीदार मूर्ख लोग

पवित्र आत्मा "नाज़" कहती है... यह षड़यंत्र में भागीदार मूर्ख लोग उसी भैस की तरह है जो जुगाली करते, मटकते हुए कसाई के पीछे चल पड़ती है... उसे तो यह भी नहीं पता होता की कसाई अपने स्वार्थ के लिए उसकी बलि देने जा रहा है... 

- सुल्तान

षड्यंत्रकारी... बहुत जाओगी मारी...

षड्यंत्रकारी 
बहुत जाओगी मारी... 

रोमिल-राज-सनी-सुल्तान

Monday, 15 January 2018

कुछ अधूरे खवाब, कुछ फूल और कुछ मोमबत्तियां

माँ तेरे लिए लाया हूँ
कुछ अधूरे खवाब, कुछ फूल और कुछ मोमबत्तियां
बड़े सरेज के रखे थे दुखभरी ज़िन्दगी में
कुछ अधूरे खवाब, कुछ फूल और कुछ मोमबत्तियां.
अपनी उँगलियों से पकड़ कर तुझे साथ चलाना चाहता था
भाग दौड़ से भरी ज़िन्दगी में तुझे अपनी गोद में आराम कराना चाहता था
मेरा संगीत जगाता तुझे
मीठी लय से तुझे सुलाना चाहता था
माँ तेरे लिए लाया हूँ
कुछ अधूरे खवाब, कुछ फूल और कुछ मोमबत्तियां.

मधुर बच्चों सी हंसी तेरे होंठो पर चाहता था
माथे पर तेरे चाँद चाहता था
तारों की तरह हमेशा तेरे चारों तरफ रहना चाहता था
तेरे सारे जीवन का भार उतार देना चाहता था
माँ तेरे लिए लाया हूँ
कुछ अधूरे खवाब, कुछ फूल और कुछ मोमबत्तियां.

- सन

वफ़ा की उम्मीद अपनों से की जाती है...

वफ़ा की उम्मीद अपनों से की जाती है... 
तुम तो कभी मेरे अपनों में शामिल ही नहीं हुई... 

- राज

Sunday, 14 January 2018

सारा पानी तो सागर पी गया... साहिल के हिस्से में केवल रेत आई...

सारा पानी तो सागर पी गया... 
साहिल के हिस्से में केवल रेत आई... 

- सन