Tuesday, 16 June 2015

Jab Tak Hai Jaan - जब तक है जान

Tu jahan kahin bhi rahe, tujhe pyar karunga jab tak hai jaan
Tera intezaar karunga jab tak hai jaan.

Tere daman se jab tak na liptunga
Teri aankhon ke mehkhane mein jab tak na utrunga
Ruhe aapas mein jab tak na hongi ek jaan
Tera intezaar karunga jab tak hai jaan.

Khule gesu ki khushboo mein jab tak na mehkunga
Garm aahon se jab tak na yeh saansein sekunga
Leti rahegi yeh dhadkan tera naam
Tera intezaar karunga jab tak hai jaan.

Mere khayalon ki tasveer hu-ba-hu tum hi rahogi
Mere dil ki aarzoo tum hi rahogi
Nigaheen jhukkar karti rahengi tumhein salam
Tera intezaar karunga jab tak hai jaan

Hoonth sada tera naam gungunate rahenge
Zindagi ko sada tere khawabon se hum sajate rahenge
Apni juban se kabhi to tu legi mera naam
Tera intezaar karunga jab tak hai jaan.

- Romil


तू जहाँ कहीं भी रहे, तुझे प्यार करूँगा जब तक है जान
तेरा इंतज़ार करूँगा जब तक है जान.

तेरे दामन से जब तक न लिपटूंगा
तेरी आँखों के महखाने में जब तक न उतारूंगा
रूहे आपस में जब तक न होंगी एक जान
तेरा इंतज़ार करूँगा जब तक है जान.

खुले गेसू की खुशबू में जब तक न मेहकूंगा
गर्म आहों से जब तक न यह सांसें सेकूंगा
लेती रहेगी यह धड़कन तेरा नाम
तेरा इंतज़ार करूँगा जब तक है जान.

मेरे ख्यालों की तस्वीर हू-ब-हू तुम ही रहोगी
मेरे दिल की आरज़ू तुम ही रहोगी
निगाहें झुककर करती रहेंगी तुम्हें सलाम
तेरा इंतज़ार करूँगा जब तक है जान.

होंठ सदा तेरा नाम गुनगुनाते रहेंगे
ज़िन्दगी को सदा तेरे खवाबों से हम सजाते रहेंगे
अपनी जुबान से कभी तो तू लेगी मेरा नाम
तेरा इंतज़ार करूँगा जब तक है जान.

- रोमिल.

No comments:

Post a Comment