Tuesday, 19 January 2016

गर तुम साथ होते...

"यह बूँदें
यह महकता हुआ मौसम
और भी सुन्दर होते
गर तुम साथ होते...
*
होती प्यार की बातें
भीगे घेसू से सजी होती रातें
गर तुम साथ होते...
*
होता उडता हवा में आँचल
बादलों संग बहता अपना मन
गर तुम साथ होते...
*
और भी हसीं लगता यह दिन
पल पल मुस्कुराता यह दिन
गर तुम साथ होते...
गर तुम मेरे साथ होते...

- Sun

No comments:

Post a Comment